मंगलवार, 14 सितंबर 2010

हिंदी-दिवस पर विशेष

कुछ तो हिंदी में बोलिए साहिब...

-अरुण मिश्र

कुछ तो हिंदी में बोलिए साहिब
मन की गांठों को खोलिए साहिब।।

पाँच-तारे से निकल कर तो कभी
गाँव - गलियों में डोलिए साहिब।।

फ़र्ज़ कुछ आप का भी बनता है
अपना दिल तो टटोलिये साहिब।।

आप ने है बहुत तरक्की की
आप गैरों के हो लिए साहिब।।

आप ने भी मनाया हिंदी-दिवस
सब के संग थोड़ा रो लिए साहिब।।

12 टिप्‍पणियां:

  1. पाँच-तारे से निकल कर तो कभी।
    गाँव - गलियों में डोलिए साहिब।’
    अति सराहनीय विचार।
    हिंदी दिवस पर हार्दिक बधाई।
    सद्भावी-डॉ० डंडा लखनवी

    उत्तर देंहटाएं
  2. उत्साहवर्धन एवं सराहना हेतु धन्यवाद, डॉ. डंडा लखनवी जी|

    उत्तर देंहटाएं
  3. अति सराहनीय विचार। हार्दिक बधाई।

    उत्तर देंहटाएं
  4. कुछ तो हिंदी में बोलिए साहिब।
    मन की गांठों को खोलिए साहिब।।
    पाँच-तारे से निकल कर तो कभी।
    गाँव - गलियों में डोलिए साहिब

    बहुत अच्छा लिखा है अंग्रेजीदां लोगों को भी सीखनी चाहिए हिंदी

    उत्तर देंहटाएं
  5. "आप ने भी मनाया हिंदी-दिवस।
    सब के संग थोड़ा रो लिए साहिब।।"

    जितना कर सकते थे हम भी कर लिए साहिब
    जय हिंदी

    उत्तर देंहटाएं
  6. सुश्री वीना जी,श्रीयुत पाटली जी एवं श्रीयुत राकेश कौशिक जी,आप सब की सहृदय टिप्पणियों के लिए हृदय से आभारी हूँ | - अरुण मिश्र.

    उत्तर देंहटाएं
  7. बहुत सुन्दर रचना , ...!!!.

    शब्दों के इस सुहाने सफ़र में आज से मैं भी आपके साथ हूँ , इस उम्मीद से की सफ़र शायद दोनों के लिए कुछ आसान हो .....मिलते रहेंगे

    अथाह...

    !!!

    उत्तर देंहटाएं
  8. apkee rachna ne mujhmen bhee kuch ummiden jagai hai sochta hu main bhi kalam lekar nikal padta hu apki rahon me.

    उत्तर देंहटाएं
  9. ब्लाग जगत की दुनिया में आपका स्वागत है। आप बहुत ही अच्छा लिख रहे है। इसी तरह लिखते रहिए और अपने ब्लॉग को आसमान की उचाईयों तक पहुंचाईये मेरी यही शुभकामनाएं है आपके साथ
    ‘‘ आदत यही बनानी है ज्यादा से ज्यादा(ब्लागों) लोगों तक ट्प्पिणीया अपनी पहुचानी है।’’
    हमारे ब्लॉग पर आपका स्वागत है।

    मालीगांव
    साया
    लक्ष्य

    हमारे नये एगरीगेटर में आप अपने ब्लाग् को नीचे के लिंको द्वारा जोड़ सकते है।
    अपने ब्लाग् पर लोगों लगाये यहां से
    अपने ब्लाग् को जोड़े यहां से


    कृपया अपने ब्लॉग से वर्ड वैरिफ़िकेशन को हटा देवे इससे लोगों को टिप्पणी देने में दिक्कत आती है।

    उत्तर देंहटाएं
  10. आप ने है बहुत तरक्की की।
    आप गैरों के हो लिए साहिब।। naked truth

    उत्तर देंहटाएं
  11. हिंदी ब्लाग लेखन के लिए स्वागत और बधाई
    कृपया अन्य ब्लॉगों को भी पढें और अपनी बहुमूल्य टिप्पणियां देनें का कष्ट करें

    उत्तर देंहटाएं
  12. इस सुंदर से चिट्ठे के साथ हिंदी ब्‍लॉग जगत में आपका स्‍वागत है .. नियमित लेखन के लिए शुभकामनाएं !!

    उत्तर देंहटाएं