शनिवार, 25 सितंबर 2010

पुत्री-दिवस २६, सितम्बर पर विशेष


 सभी बेटिओं को समर्पित  
लाडली बिटिया मेरी....
 - अरुण मिश्र 

                                       मेरे घर की रोशनी है, मेरे आँगन की कली है|
                        बेल में  परिवार के मेरे   फली,  मीठी फली है|
                        संस्कारों में  रची है,  वंश  की   विरुदावली है| 
                        लाडली बिटिया मेरी मासूम,भोली है, भली है|| 

 

3 टिप्‍पणियां:

  1. बिटिया दिवस की शुभ कामनाएं आपको भी और बिचिया को भी ।

    उत्तर देंहटाएं
  2. बेटियों को समर्पित पंक्तियों के लिए बधाई! बेटियों का भविष्य सुरक्षित करने के लिए इसी प्रकार की सार्थक सोच की जरूरत है।

    उत्तर देंहटाएं